चौंकाने वाली खबर: छोटे से गांव की बड़ी ख़ौफनाक घटना का खुलासा!

“अपराध समाचार: प्रेम के पीछे छुपी दर्दनाक कहानी – बिरादरी और जीवन के तंत्र से जुड़ी खतरनाक परिप्रेक्ष्य”

सराय अकिल क्षेत्र के एक गांव में पटेल बिरादरी की 15 वर्षीय किशोरी का प्रेम प्रसंग बदल गया। उसका प्रेमी गांव के एक धोबी बिरादरी के लड़के से जुड़ा था, जिनकी मिलान-जुलन की बातें छुपकर की जाती थी। परिवार को जानकर जब यह सचाई सामने आई, तो किशोरी को उसके दिल्ली में रहने वाले चाचा के पास भेज दिया गया।

रात में गैर बिरादरी के लड़के से बात करने से नाराज हुए छोटे भाई ने बड़ी बहन को कुल्हाड़ी से कई बार मारकर उसकी जिंदगी की राह रोक दी। यह दर्दनाक घटना कौशांबी के सरायअकिल इलाके में घटी।

इस घटना के बाद आरोपी किशोर ने खुद को पुलिसकर्मियों के हाथों में सौंप दिया, लेकिन इसके परिणामस्वरूप थाने के पुलिसकर्मी भी चौंक गए। आरोपी को हिरासत में लिया गया है और मौके पर डॉग स्क्वॉड और फोरेंसिक टीम भी पहुंची है। यह घटना शुक्रवार की देर रात को हुई थी।

सराय अकिल क्षेत्र के एक गांव में पटेल बिरादरी की 15 वर्षीय किशोरी का प्रेम प्रसंग बदल गया। उसका प्रेमी गांव के एक धोबी बिरादरी के लड़के से जुड़ा था, जिनकी मिलान-जुलन की बातें छुपकर की जाती थी। परिवार को जानकर जब यह सचाई सामने आई, तो किशोरी को उसके दिल्ली में रहने वाले चाचा के पास भेज दिया गया। किशोरी दो दिन पहले ही दिल्ली से वापस गांव आई थी।

छोटे भाई की नाराजगी से परेशान होकर किशोरी शुक्रवार की रात अपने प्रेमी से फोन पर बात कर रही थी। यह बात उसके 13 वर्षीय छोटे भाई के दिल को चुभी। उसने अपनी बड़ी बहन को मनाने की कोशिश की, लेकिन जब वह नहीं मानी, तो उसने अपनी बड़ी बहन की गर्दन पर कुल्हाड़ी से कई बार हमला किया। बहन लहूरुपी होकर जमीन पर गिर पड़ी। उसके बाद छोटे भाई ने कई बार उसे मारकर उसकी जान लेली।

इस घटना में परिवार के लोग घटना को छिपाने में व्यस्त थे और उन्होंने रात में ही अंतिम संस्कार की तैयारी करनी शुरू कर दी थी, लेकिन आरोपी किशोर ने खुद ही पुलिस स्थान पर चलकर घटना की जानकारी दी, जिससे पुलिसकर्मी चौंक गए। तत्काल पुलिसकर्मी घटनास्थल पर पहुंचे, जहाँ शव रखा गया था।

उन्होंने डॉग स्क्वॉड और फोरेंसिक टीम को भी बुलाया। फिलहाल, आरोपी किशोर को हिरासत में लिया गया है और पुलिस ने इस घटना में प्रयुक्त कुल्हाड़ी को बरामद किया है।

इस परिप्रेक्ष्य में, दो भाई और एक बहन हैं। इकलौती बहन किशोरी गांव में कक्षा आठ तक की पढ़ाई करने के बाद स्कूल नहीं जाती थी, जबकि बड़ा भाई प्रयागराज में इंटर की पढ़ाई कर रहा है। आरोपी किशोर ने कभी स्कूल नहीं जाया, और उनके पिता खेती और पशु पालन से आर्थिक रूप से परिपोषित होते हैं।”

Leave a Comment