खास खानपान से लेकर सुरक्षा व्यवस्था तक: जानिए इमरान खान की अटोक जेल में जिंदगी की कहानी!

अटोक जेल में इमरान खान: पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट को सूचित किया गया है कि पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान को उनके ‘कद और कानूनी दर्जे’ के अनुसार जेल में सभी सुविधाएं प्रदान की जा रही हैं और उन्हें देसी मुर्गा और घी में पका मटन परोसा जा रहा है। इस बारे में एक मीडिया रिपोर्ट मंगलवार को प्रकाशित हुई।

उनकी इच्छानुसार, दो बार देशी मुर्गे का मांस प्रस्तुत किया जा रहा है, और रात्रि के भोजन में ताजा फल, सब्जियां, दालें और चावल शामिल हैं। पाकिस्तान के एक अदालत ने खान को तोशाखाना भ्रष्टाचार मामले में ‘भ्रष्टाचार’ का दोषी ठहराया था, जिसके बाद वे लाहौर के आवास से गिरफ्तार किए गए और अब पांच अगस्त से पंजाब प्रांत की अटोक जेल में बंद हैं।

मंगलवार को, खान की सजा को स्थगित करने के दौरान, द न्यूज इंटरनेशनल अखबार ने रिपोर्ट में कहा, “सुप्रीम कोर्ट को सोमवार को सूचित किया गया कि पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ अध्यक्ष इमरान खान को अटोक जेल में उनके कद और कानूनी रूप से सभी सुविधाएं प्रदान की जा रही हैं।”

पीटीआई प्रमुख के निवास संबंधी स्थितियों की जाँच करने के बाद, अटॉर्नी जनरल कार्यालय ने जेल के अधीक्षक द्वारा सूप्रीम कोर्ट को एक रिपोर्ट प्रस्तुत की है।

रिपोर्ट में बताया गया कि ब्लॉक नंबर 02 इस जेल का सबसे सुरक्षित विभाग है, जिसे खाली कर दिया गया था, और खान को रखने के लिए एक भाग में चार कोठरियां वाले उच्च निगरानी ब्लॉक का ऐलान किया गया था।

रिपोर्ट में आगे बताया गया कि इस ब्लॉक में सफाई की गई, फर्श को पक्का किया गया, और छत पर एक पंखा भी लगाया गया है।

रिपोर्ट में उल्लिखित है कि पूर्व प्रधानमंत्री को सप्ताह में दो बार उनकी इच्छानुसार देशी मुर्गे का मांस परोसा जा रहा है और बकरे के मांस (मटन) को भी घी में पकाकर प्रस्तुत किया जा रहा है। उनके खानपान की सूची में नाश्ते के लिए ब्रेड, आमलेट, दही, और चाय शामिल हैं, जबकि दोपहर और रात्रि के भोजन में ताजे फल, सब्जियां, दालें और चावल शामिल हैं।

रिपोर्ट द्वारा खुलासा किया गया है कि खान के सोने के लिए गद्दा, चार तकिए, एक मेज, कुर्सी, नमाज के लिए चटाई, और कूलर के साथ-साथ टीवी, समाचार पत्र, अंग्रेजी में अनूदित कुरान की चार प्रतियां और 25 किताबें इस्लामी इतिहास पर प्रदान की गई हैं।

रिपोर्ट में उल्लिखित है कि पूर्व प्रधानमंत्री की सुरक्षा के लिए कम से कम 53 जेल कर्मियों को अस्थायी रूप से पांजाब से तैनात किया गया है।

Leave a Comment