क्या I.N.D.I.A. के राजनेता इस सबसे बड़े गठबंधन के लिए रहे हैं तैयार? यहाँ जानिए रहस्यमय योजना!

“मुंबई में विपक्षी गठबंधन की I.N.D.I.A. बैठक: कपिल की अप्रत्याशित एंट्री ने कांग्रेस को भारी क्षति पहुंचाई”

मुंबई, 25 अगस्त: विपक्षी दलों के I.N.D.I.A. गठबंधन का मुंबई में आयोजित दूसरे दिन को विवादों से घिरा था। इस बैठक में राज्यसभा सांसद कपिल शर्मा की अप्रत्याशित उपस्थिति ने कांग्रेस को विवादों में डाल दिया, क्योंकि कपिल शर्मा बैठक के आमंत्रित सदस्य नहीं थे। इस बार की बैठक में जानी-मानी राजनेता कपिल शर्मा की उपस्थिति ने कांग्रेस के नेताओं को परेशान कर दिया और विपक्ष में भी उथल-पुथल मच गई।

कपिल शर्मा की अप्रत्याशित उपस्थिति के बाद कांग्रेस नेता केसी वेणुगोपाल ने उनके दौरे की शिकायत उद्धव ठाकरे से की, और इसके परिणामस्वरूप कुछ कांग्रेस नेताओं को नाराजगी का सामना करना पड़ा। वेणुगोपाल की उपस्थिति से आपत्ति जताने वाले कुछ नेता थे, और कांग्रेस नेताओं की तरफ से भी नाराजी दिखी।

इसके बाद फारूक अब्दुल्ला और अखिलेश यादव ने वेणुगोपाल को मनाने की कोशिश की, लेकिन राहुल गांधी ने कहा कि उन्हें कोई आपत्ति नहीं है। आख़िरकार कपिल शर्मा को भी फोटो सत्र के हिस्सा बनाया गया और बैठक में उनका स्वागत किया गया।

कपिल शर्मा का सपा में शामिल होना

कपिल शर्मा का सपा में शामिल होना अगस्त 2022 में हुआ था, जब वे कांग्रेस से जुदे और समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए। कपिल शर्मा पूर्व में कांग्रेस के कई महत्वपूर्ण पदों पर रहे हैं, जैसे कि केंद्रीय कानून मंत्री और मानव संसाधन विकास मंत्री। लेकिन कुछ समय से कांग्रेस नेतृत्व से उनकी असंतोष की आवाज बढ़ गई थी। कपिल शर्मा को कांग्रेस के सबसे बड़े चंदे देने वाले नेताओं में भी गिना जाता था।

आज के INDIA बैठक में क्या होगा?

सूत्रों के मुताबिक, कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने नेताओं से कोऑर्डिनेशन कमेटी में शामिल होने के लिए एक नाम की मांग की है। आज INDIA गठबंधन का लोगो भी लॉन्च किया जाएगा। बैठक में INDIA के प्रवक्ताओं की टीम की जरूरत पर चर्चा हुई, जो गठबंधन की ओर से बातचीत करेगी। इसके अलावा, गुरुवार को आयोजित होने वाली बैठक के एजेंडे पर भी चर्चा हुई। इस बैठक के बाद INDIA गठबंधन के नेता एक संयुक्त बयान जारी करेंगे।

बैठक में उपस्थित नेता

इस बैठक में विपक्षी गठबंधन के नेता शामिल हुए, जिनमें कांग्रेस के अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, सोनिया गांधी, राहुल गांधी, एनसीपी के प्रमुख शरद पवार, शिवसेना (यूबीटी) के अध्यक्ष उद्धव ठाकरे, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, आप के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, राजद के सुप्रीमो लालू प्रसाद, तमिलनाडु के मुख्यमंत्री मीके स्टालिन शामिल हुए। इसके अलावा, नेशनल कॉन्फ्रेंस के फारूक अब्दुल्ला और उमर अब्दुल्ला, पीडीपी के महबूबा मुफ्ती, सीपीआई (एम) के सीताराम येचुरी, सीपीआई के डी राजा, सीपीआई (एमएल) के दीपांकर भट्टाचार्य, बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव, उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव, आरएलडी के जयंत चौधरी भी उपस्थित रहे।

बैठक में चर्चा हुई बातें

  • मुंबई बैठक के पहले दिन पर तय हुआ कि कोऑर्डिनेशन कमेटी को दो स्तरों पर बाँटा जाएगा, पहला सेंट्रल और दूसरा स्टेट लेवल पर। इन दोनों कमेटियों का साझा कार्य होगा जो गठबंधन की रणनीति तय करेंगे।
  • गुरुवार को चर्चा के दौरान निर्णय लिया गया कि कोऑर्डिनेशन कमेटी में कम से कम चार ग्रुप होंगे, जिनमें पहला गठबंधन के संयुक्त कार्यक्रम की योजना बनाने के लिए, दूसरा कार्य योजना तैयार करने के लिए, और तीसरा सोशल मीडिया को संभालने के लिए होगा, और एक रिसर्च और डेटा एनालिसिस में भी शामिल होगी। इसके अलावा, संयुक्त अभियान और रैलियों की रूपरेखा तैयार करने के लिए एक सब कमेटी भी गठित की जाएगी। शुक्रवार को गठबंधन के संयोजक को भी निर्धारित करने पर चर्चा हो सकती है।
  • बैठक में सभी पार्टियों से नेताओं के नाम मांगे गए हैं, जिन्हें कोऑर्डिनेशन कमेटी में रखना चाहिए।
  • विपक्षी गठबंधन का मानना है कि वे तैयार रहें, क्योंकि बीजेपी जल्द ही चुनाव करा सकती है, इसलिए समय बर्बाद नहीं करना चाहिए।
  • बैठक में तय हुआ है कि राजनीतिक मतभेदों को अलग रखा जाए और एजेंडे में आम लोगों की समस्याओं से जुड़े मुद्दे होने चाहिए।
  • INDIA गठबंधन के नेताओं ने तय किया है कि वे आगे की रणनीति को तेजी से तय करेंगे।
  • संसद के विशेष सत्र के बारे में भी चर्चा हुई, और गठबंधन का मानना है कि विपक्ष को एनडीए की आश्चर्यजनक रूप से जीतने के लिए सजग रहना होगा।

INDIA गठबंधन का उद्देश्य

INDIA गठबंधन का मुख्य उद्देश्य भाजपा के खिलाफ मिलकर चुनाव लड़ना है, ताकि वे 2024 के लोकसभा चुनाव में सशक्त विपक्ष के रूप में प्रस्तुत हो सकें। इस गठबंधन में विभिन्न राजनीतिक पार्टियां शामिल हैं, जिनमें कांग्रेस, शिवसेना, सपा, राजद, टीएमसी, आप, रलजद, नसीमुप, जम्मू और कश्मीर के दल, और अन्य पार्टियां शामिल हैं।

INDIA गठबंधन की सफलता का कुंजीय बिंदु है कोऑर्डिनेशन और एकता, ताकि वे एक मिलकर चुनाव लड़ सकें और बीजेपी के खिलाफ महत्वपूर्ण राजनीतिक जीत हासिल कर सकें।

Leave a Comment