राष्ट्रपति जो बाइडेन की रहस्यमय उम्र: अनदेखा सच क्या है?


अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव: जो बाइडेन की आयु ने चुनाव से पहले राजनीतिक स्तर पर धमाल मचा दिया है। AP-NORC के पोल रिजल्ट में उन्हें ‘बुड्ढा’ और ‘पुराना’ कहकर संबोधित करने वाले 26 प्रतिशत लोगों ने खिलवाड़ खेल दिया है। फिर, एक नई किताब सामने आई है, जिससे राजनीति में एक नया उत्सव आरंभ हो गया है।

इस पुस्तक में दावे किए गए हैं कि जो बाइडेन ने मान लिया है कि राष्ट्रपति के तौर पर उनके दैनिक कार्यक्रमों से कभी-कभी थकान महसूस होती है, जिसके बाद उनकी आयु की चर्चा एक बार फिर सुर्खियों में आई है।

इस किताब में क्या-क्या दावे किए गए हैं?

फ्रैंकलिन फायर की पुस्तक ‘द लास्ट पॉलिटिशियन: इनसाइड जो बाइडेन व्हाइट हाउस एंड द स्ट्रगल फॉर अमेरिकाज फ्यूचर’ के अनुसार, अमेरिकी राष्ट्रपति संख्या 46 की 80 साल की उम्र ने उनकी दैनिक कार्यक्षमता को कुछ हद तक रोक लगा दी है, जैसे कि सुबह की ब्रीफिंग और सार्वजनिक कार्यक्रमों को पूरा करने की उनकी क्षमता में अड़चन आ गई है।

इस किताब का लॉन्च अगले हफ्ते की सूचना है। इसमें दावा किया गया है कि राष्ट्रपति कभी-कभी निजी रूप में मान लेते थे कि वे थके हुए महसूस कर रहे हैं। यह बताया जाता है कि फायर ने अभी तक इस दावे का समर्थन नहीं किया है।

हालांकि, उनके प्रकाशक पेंगुइन रैंडम हाउस के अनुसार यह पुस्तक दशकों से बाइडेन के निकट सलाहकारों तक पहुंचने की अद्वितीय पहुंच पर आधारित है।

AP-NORC के पोल रिजल्ट क्या बताते हैं? आप्रेस के अनुसार, पोल रिजल्ट में अधिकांश लोग उनकी आयु को लेकर चर्चा कर रहे थे। बाइडेन, जो केवल 3 साल बड़े हैं तथा ट्रम्प से, लेकिन लोग उनकी प्रतिभाओं को लेकर राष्ट्रपति के रूप में चिंतित थे।

26 प्रतिशत लोगों ने उन्हें ‘बुड्ढा’ और ‘पुराना’ कहकर संबोधित किया, जबकि 15 प्रतिशत लोगों ने उन्हें ‘धीमा’ और ‘कन्फ्यूज्ड’ बताया। 10 प्रतिशत ने उनके खिलाफ नकारात्मक टिप्पणियां की, 6 प्रतिशत ने उन्हें ‘भ्रष्टाचारी’ और ‘टेढ़ा’ बताया, और एक ही अंश 6 प्रतिशत ने उन्हें ‘राष्ट्रपति’ और ‘नेता’ कहा, जबकि केवल 5 प्रतिशत लोग उन्हें ‘सशक्त’ और ‘योग्य’ मानते हुए दिखाई दिए।

Leave a Comment